Posts

Showing posts from 2011

मेरे जीवन का पहला सम्मान

Image

उधम सिंह के पौत्र श्री जीत सिंह को एक लाख रूपये की फिर सहायता

Image

स्वतंत्रता संग्राम के शहीदों के भूले-बिसरे वंशजों पर फीचर फिल्म

Image
http://www.mediadarbar.com/shivenath/

1857 में हुए भारत के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के महानायक तात्यां टोपे और जलियांवाला बाग कांड का बदला लेने वाले शहीद-ए-आज़म उधम सिंह का नाम तो आज भी देश भर में बच्चे-बच्चे की जुबान पर है, लेकिन आजादी के लिए अपने तन-मन-धन का बलिदान कर देने वाले इन शहीदों के वंशज़ आज किस बदहाली में अपना जीवन गुजार रहे हैं, यह किसी ने सोचा तक नहीं है। करीब एक सदी तक चले स्वतंत्रता संग्राम के ऐसे अनेकों क्रान्तिकारी थे जिनके परिवारवालों और वंशजों को किसी ने याद नहीं रखा। इन भूले-बिसरे परिजनों और वंशजों की बदहाली को मशहूर पत्रकार शिवनाथ झा एक फीचर फिल्म के माध्यम से बयां करने की तैयारी में हैं। झा के मुताबिक “डिस्ग्रेसफुल” (अपमानजनक) नाम की इस फिल्म के माध्यम से भारत को आजादी दिलाने वाले ऐसे शहीदों, महापुरुषों और क्रान्तिकारियों के 22 वंशजों से बातचीत के आधार पर उन परिवारों की मौजूदा दुर्दशा को झलकाने का प्रयास किया जाएगा जिनके पुरखो ने 1857 से 1947 तक चले स्वतंत्रता संग्राम में अपना जीवन न्यौछावर कर दिया। शिवनाथ झा ने मीडिया दरबार को बताया कि उन्होंने इस फिल्म की योजना …

आजादी के नायकों के वंशजों की दुर्दशा बयां करेगी फिल्म

Image
नई दिल्ली, ५ मई (भाषा) : देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के नायक तात्या टोपे की चौथी पीढ़ी के वंशज हों या जल्लिंवाला बाघ कांड का बदला लेने वाले शहीद-इ-आज़म उधम सिंह के पौत्र हों, स्वतंत्रता संग्राम के ऐसे अनेक क्रन्तिकरिओन के परिजनों और वंशजों के हाल को एक लागु फिल्म के माध्यम से बयां किया जायेगा.

फ़िल्मकार के अनुसार भारत की आजादी दिलाने वाले ऐसे शहीदों, महापुरुषों और क्रन्तिकरिओन के ३० वंशजों से बातचित के आधार पर उन परिपरों की मौजूदा दुर्दशा को झलकने का प्रयास किया  जायेगा, जिनकी पुरानी पीढ़ियों ने १८५७ से लेकर १९४७ तक के काल में देश को गुलामी के चंगुइल से मुक्ति कराने के लिए जान लड़ा दी थी लेकिन आज उन्हें भुला दिया गया है.

फिल्म को मूर्त रूप देने में लगे पत्रकार शिवनाथ झा ने इस से पहले अपनी पत्नी नीना झा के साथ मिलकर "आन्दोलन:एक पुस्तक से" नामक अभियान भी शुरू किया है. यह फिल्म भी उसका ही एक हिस्सा है. फिल्म को इस साल अगस्त में स्वतंत्रता दिवस से पहले प्रदर्शित करने की योजना है.

झा ने बताया की डेढ़ घंटे की यह लहू फिल्म उन ३० परिवारों के सदस्यों से बातचीत पर आधारित होगी जो स्…

आन्दोलन:एक पुस्तक से

Image

Forgotten Indian Heroes & Martyrs: Their Neglected Descendants-1857-1947( By Shivnath and Neena Jha)

Image
INAURURAL SPEECH at Press Club of India, New Delhi on 13th April 2011, Vaishakhi - 92-year after the Jallianwala Bagh massacre) Esteemed ladiesand gentlemen , It is a pleasureand indeed a privilege tobe a part of this book launch function. Today is the 92nd anniversary of the bloody Vaishakhi day of April 13, 1919 which was awatershed day in India's history. Hundreds of peaceful demonstrators including men, womenand children - were massacred by the British imperialistic forces under General MichaelO’Dwyer at Jalianwala Bagh in Amritsar, Punjab. Those killed were largely the faceless people who had nurtured a dream of Freedom for the motherland. It was twenty years later that their brutal murder was avenged by an inspired young man, Udham Singh, who killed Michael O’Dwyer and in the bargain, attained martyrdom. Tragically, his selfless sacrifice for the cause of the country's freedom went unsung and as India got freedom, he sadly got confined to the dusty pages of history. It is ind…

हमारा चौथा प्रयास: जीत सिंह को एक नई जिन्दगी देने का एक सफल प्रयास:Martyr Udham Singh honoured

Image