Friday, March 4, 2011

आन्दोलन:एक पुस्तक से यानि अँधेरे कोठरी में एक रोशनदान


आन्दोलन:एक पुस्तक से यानि अँधेरे कोठरी में एक रोशनदान, मैंने नहीं, लोगों ने कहा. एक सार्थक प्रयास, एक ऐसा प्रयास जिसे किसी ने सोचा नहीं, किसी ने किया नहीं. ऐसा भी हों सकता है. एक किताब किसी कि जिन्दगी में थोड़ी तबदीली ला सकती है. आइये, साथ बढे, कुछ करें, किसी के लिए  

No comments: